Geetmala Hindi Lyrics

Aankhon Ki Gustakhiyan Maaf Ho | आँखों की गुस्ताखियाँ मांफ हो

Aankhon Ki Gustakhiyan Maaf Ho Lyrics | आँखों की गुस्ताखियाँ मांफ हो - बोल

आँखों की गुस्ताखियाँ मांफ हो, टिकटूक तुम्हे देखती हैं
जो बात कहना चाहे ज़ुबां, तुम से ये वो कहती हैं

आँखों की शर्म-ओ-हया मांफ हो, तुम्हे देख के झुकती हैं
उठी आँखे जो बात ना कह सकी, झुकी आँखे वो कहती हैं

काजल का एक तील तुम्हारे लबों पे लगा लूँ
चंदा और सूरज की नज़रों से तुमको बचा लूँ
पलकों की चिलमन में आओ मैं तुमको छुपा लूँ
ख़यालों की ये शोखियाँ मांफ हो
हरदम तुम्हे सोचती हैं
जब होश में होता है जहां, मदहोश ये करती हैं

ये ज़िन्दगी आपकी ही अमानत रहेगी
दिल में सदा आपकी ही मोहब्बत रहेगी
इन साँसों को आप की ही ज़रूरत रहेगी
इस दिल की नादानियाँ मांफ हो
ये मेरी कहाँ सुनती हैं
ये पलपल जो होती हैं बेकल सनम तो सपने नये बुनती हैं

Aankhon Ki Gustakhiyan Maaf Ho Lyrics

Aankhon ki gustakhiyan maaf ho, tiktuk tumhe dekhti hain
Jo baat kahana chaahe jubaan, tum se ye wo kahati hain

Ankhon ki sharm-o-haya maaf ho, tumhe dekh ke jhukati hain
Uthhi ankhe jo baat na kah saki, jhuki ankhe wo kahati hain

Kaajal ka ek til tumhaare labon pe laga lun
Chanda aur suraj ki najron se tumko bacha lun
Palkon ki chilman mein ao main tumko chhupa lun
Khyaalon ki ye shokhiyaan maaf ho
Hardam tumhe sochti hain
Jab hosh mein hota hai jahaan, madahosh ye karti hain

Ye zindagi apaki hi amaanat rahegi
Dil mein sada apaki hi mohabbat rahegi
In saanson ko ap ki hi jarurat rahegi
Is dil ki nadaniyan maaf ho
Ye meri kahaan sunti hain
Ye palpal jo hoti hain bekal sanam to sapne naye bunti hain

(अतिरिक्त जानकारी)

गायक: कविता कृष्णमुर्ती, कुमार सानू, गीतकार: मेहबूब, संगीतकार: ईस्माइल दरबार, चित्रपट: हम दिल दे चुके सनम (१९९९)

Aankhon Ki Gustakhiyan Maaf Ho - Song | आँखों की गुस्ताखियाँ मांफ हो - गीत

Previous Post
Aankhon Hi Aankhon Mein Ishara Ho Gaya | आँखों ही आँखों में इशारा हो गया
Next Post
Aankhon Mein Teri Ajab Si | आँखों में तेरी अजबसी अजबसी अदाएँ हैं

Related Posts

Menu

Pin It on Pinterest