Geetmala Hindi Lyrics

Aaj Kal Paon Zameen Par Nahi | आज कल पाँव जमीन पर नहीं

Singer: Lata Mangeshkar
Lyricist: Gulzar
Music Director: Rahul Dev Burman
Movie: Ghar
(1978)
199

Aaj Kal Paon Zameen Par Nahi Lyrics | आज कल पाँव जमीन पर नहीं - बोल

आज कल पाँव जमीन पर नहीं पड़ते मेरे
बोलो देखा है कभी तुमने मुझे उड़ते हुए

जब भी थामा है तेरा हाथ तो देखा है
लोग कहते हैं कि बस हाथ की रेखा है
हमने देखा है दो तकदीरों को जुड़ते हुए

नींद सी रहती है, हल्कासा नशा रहता है
रात दिन आँखों में एक चेहरा बसा रहता है
परलगी आँखों को देखा है कभी उड़ते हुए

जाने क्या होता है, हर बात पे कुछ होता है
दिन में कुछ होता है और रात में कुछ होता है
थाम लेना जो कभी देखो हमें उड़ते हुए

Aaj Kal Paon Zameen Par Nahi Lyrics

Aaj kal paon zameen par nahi padte mere
Bolo dekha hai kabhi tumne mujhe udte huye

Jab bhi thaama hai tera haath to dekha hai
Log kahate hain ki bas haath ki rekha hai
Hamne dekha hai do takdiron ko judte huye

Nind si rahati hai, halkasa nasha rahata hai
Raat din ankhon mein ek chehara basa rahata hai
Paralagi ankhon ko dekha hai kabhi udte huye

Jaane kya hota hai, har baat pe kuchh hota hai
Din mein kuchh hota hai aur raat mein kuchh hota hai
Thaam lena jo kabhi dekho humein udte huye

(अतिरिक्त जानकारी)

गायक: लता मंगेशकर, गीतकार: गुलज़ार, संगीतकार: राहुल देव बर्मन, चित्रपट: घर (१९७८)

Aaj Kal Paon Zameen Par Nahi - Song | आज कल पाँव जमीन पर नहीं - गीत

Previous Post
Aaj Kal Mein Dhal Gaya | आज कल में ढल गया दिन हुआ तमाम
Next Post
Aajkal Tere Mere Pyar Ke Charche | आजकल तेरे मेरे प्यार के चर्चे

Related Posts

Menu

Pin It on Pinterest