Geetmala Hindi Lyrics

Aa Ke Teri Bahon Mein Har Shaam | आ के तेरी बाहों में हर शाम

Aa Ke Teri Bahon Mein Har Shaam Lyrics | आ के तेरी बाहों में हर शाम - बोल

आ के तेरी बाहों में हर शाम लगे सिंदूरी
मेरे मनको महकाए तेरे मन की कस्तूरी

महकी हवायें उड़ता आँचल, लट घुंघराले काले बादल
प्रेम सुधा नैनों से बरसे, पी लेने को जीवन तरसे
बाहों में कस लेने दे, प्रीत का चुंबन देने दे
इन अधरों से छलक न जाए यौवन रस अंगूरी

सुंदरता का बहता सागर, तेरे लिए है रूप के बादल
इंद्रधनुष के रंग चुराऊँ, तेरी जुल्मी माँग सजाऊँ
दो फूलों के खिलने का, वक्त यही है मिलने का
आजा मिलके आज मिटा दे थोड़ी सी ये दूरी

Aa Ke Teri Bahon Mein Har Shaam Lyrics

Aa ke teri bahon mein har shaam lage sinduri
Mere manko mahakaye tere maan ki kasturi

Mahaki hawaayen udta anchal, lat ghungharaale kale baadal
Prem sudha nainon se barse, pi lene ko jiwan tarase
Bahon mein kas lene de, prit ka chumban dene de
In adharon se chhalak na jaye yauwan ras anguri

Sundarta ka bahata sagar, tere liye hai rup ke badal
Indradhanush ke rang churaaun, teri julmi maang sajaun
Do phulon ke khilne ka, wakt yahi hai milne ka
Aja milke aaj mita de thodi si ye duri

(अतिरिक्त जानकारी)

गायक: लता मंगेशकर, एस्. पी. बालसुब्रमण्यम, गीतकार: समीर, संगीतकार: आनंद – मिलींद, चित्रपट: वंश (१९९२)

Aa Ke Teri Bahon Mein Har Shaam - Song | आ के तेरी बाहों में हर शाम - गीत

Previous Post
Aake Seedhi Lagi Dil Pe | आके सीधी लगी दिल पे जैसे कटरिया
Next Post
Aa Lag Ja Gale Dilruba | आ लग जा गले दिलरुबा

Related Posts

Menu

Pin It on Pinterest